ब्रेकिंग न्यूजराजनीतिशासन-प्रशासन

एमएलसी बनाम ब्लॉक प्रमुखः रुझान आना शुरू, मनिहारी बीडीओ समेत चार का तबादला

गाजीपुर (सुजीत सिंह प्रिंस)। मनिहारी ब्लॉक के बीडीओ, एडीओ (आईएफडी) व ग्राम पंचायत सेक्रेटरी तथा तकनीकी सहायक (मनरेगा) के गुरुवार की रात अचानक तबादला कर दिया गया। एक साथ चार अधिकारियों का एक ही आदेश पर तबादला महज इत्तेफाक नहीं माना जा रहा है। बल्कि इसकी चर्चा विकास विभाग समेत राजनीतिक हलके में भी है।

बीडीओ बृजेश कुमार अस्थाना को जिला मुख्यालय पर डीडीओ ऑफिस से अटैच किया गया है। इनकी जगह श्रीश वर्मा को भेजा गया है। एडीओ (आईएफडी) भूपेंद्र सिंह बिरनो स्थानांतरित हुए हैं। ग्राम पंचायत सेक्रेटरी सुधीर सिंह रेवतीपुर जबकि तकनीकी सहायक संजय सिंह का तबादला करंडा ब्लॉक के लिए हुआ है।

विकास विभाग के सूत्रों की मानी जाए तो यह कार्रवाई मनरेगा में घोर अनियमितता की शिकायत के बाद डीएम एमपी सिंह के आदेश पर हुआ है। इसकी पुष्टि डीडीओ राजेश कुमार यादव ने भी की। बल्कि इस मामले में ‘आजकल समाचार’ चर्चा पर उन्होंने यह भी बताया कि डीएम ने शिकायतों की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटी भी गठित करने को कहा है।

हालांकि मनिहारी ब्लॉक के ग्राम प्रधानसंघ के अध्यक्ष राकेश सिंह डीएम की इस कार्रवाई का श्रेय ले रहे हैं। उनका कहना है कि मनिहारी ब्लॉक की ग्राम पंचायतों में मनरेगा में अनियमितता काफी दिनों से चल रहा था और उस सबके पीछे काकस था और हटाए गए अधिकारी उस काकस के हिस्से थे। इस मसले को लेकर उन्होंने आंदोलन का एलान कर दिया  था। उसके बाद ही डीएम ने इस पूरे मामले को संज्ञान में लिए थे। वैसे खबर यह भी है कि काकस से आजिज आ चुके ग्राम पंचायतों के अन्य सेक्रेटरी भी लामबंद हो गए थे और वह सीडीओ तक को इस बाबत लिखित शिकायत किए थे।

उधर राजनीतिक हलके में मनिहारी ब्लॉक के बीडीओ समेत चार अधिकारियों के एक साथ तबादले को एमएलसी विशाल सिंह चंचल और ब्लॉक प्रमुख संघ के बीच चल रही तनातनी से जोड़कर देखा जा रहा है। मालूम हो कि ब्लॉक प्रमुख संघ के मुख्य कर्ताधर्ता मनिहारी ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि योगेंद्र सिंह हैं और हटाए गए बीडियो समेत सभी अधिकारी उनके दुलरुआ रहे हैं। तब हैरानी नहीं कि उन अधिकारियों का तबादले के पीछे एमएलसी विशाल सिंह चंचल का दिमाग हो सकता है और इस कार्रवाई के जरिये एमएलसी ने जिले के अन्य ब्लॉक प्रमुखों को अपनी ताकत का एहसास कराने की कोशिश की है। इस बात में दम इस लिए भी लगता है कि 21 अगस्त को पीडब्ल्यूडी डाक बंगले में ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि योगेंद्र सिंह के धुर राजनीतिक विरोधी इशुपुर खड़वा के पूर्व प्रधान अजय सिंह की काफी देर तक गुफ्तगूं हुई थी। मनिहारी क्षेत्र में अजय सिंह इन दिनों एमएलसी के कारखास माने जा रहे हैं। यहां तक कि मनिहारी के नवनियुक्त बीडीओ श्रीश वर्मा के ब्लॉक मुख्यालय पहुंचने पर अजय सिंह अपने सिपहसालार सुभासपा नेता पंकज दूबे संग गर्मजोशी से स्वागत किए। खबर तो यह भी है कि अजय सिंह मनिहारी ब्लॉक मुख्यालय पर एमएलसी विशाल सिंह चंचल का कार्यक्रम भी लगवाने वाले हैं। ताकि वह ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि योगेंद्र सिंह के सामने अपनी सीधी चुनौती पेश कर सकें। राजनीतिक हलके में यह भी चर्चा कि खुद एमएलसी विशाल सिंह चंचल भी अपने विरुद्ध मोर्चा खोले ब्लाक प्रतिनिधि योगेंद्र सिंह पर राजनीतिक चोट के लिए अजय सिंह का इस्तेमाल कर रहे हैं।

यह जरूर सुनें–थानेदार ने भाजपा नेताओं की उतार दी ‘गर्मी' !

 ‘आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button