अपराधब्रेकिंग न्यूजराजनीति

लुटेरे के हमले में जख्मी विधायक के सरकारी गनर की मौत

गाजीपुर। मुहम्मदाबाद के सपा विधायक मन्नू अंसारी के सरकारी गनर राकेश चौधरी आखिर अपनी जिंदगी की जंग हार गए। बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे लखनऊ के ट्रामा सेंटर (केजेएमयू) में उनका दम टूटा। राकेश चौधरी का पार्थिव शरीर लखनऊ से रात तक गाजीपुर लाया जाएगा और तीन नवंबर की सुबह उन्हें अंतिम सलामी दी जाएगी। उसके बाद दाह संस्कार के लिए पार्थिव शरीर उनके पैतृक घर हंडिया प्रयागराज ले जाया जाएगा।

मालूम हो कि राकेश चौधरी 25 अक्टूबर को श्रमजीवी एक्सप्रेस से लखनऊ जा रहे थे। वह दिव्यांगों के लिए आरक्षित बोगी में सवार थे। उसी बीच लघुशंका के लिए वह बोगी के टॉयलेट में गए और वापसी में बोगी के डोरवेज में सिगरेट पी रहा एक अज्ञात युवक टोकने पर उनसे उलझ गया था। उसके बाद राकेश चौधरी अपनी सीट पर आकर बैठे ही थे कि वह युवक उनके पास पहुंचा था और चाकू से ताबड़तोड़ प्रहार कर उनकी सर्विस कार्बाइन लूट लिया और उसी सर्विस कार्बाइन से बोगी में सवार अन्य यात्रियों को आतंकित कर वह चलती ट्रेन से उतर गया था। तब ट्रेन सुल्तानपुर जंक्शन स्टेशन पहुंचने वाली थी। सुल्तानपुर जंक्शन पर ट्रेन के रुकने के बाद जीआरपी लहूलुहान राकेश चौधरी को जिला अस्पताल ले गई। जहां उन्हें ट्रामा सेंटर (केजेएमयू) लखनऊ रेफर कर दिया गया था।

अपने सरकारी अंगरक्षक राकेश चौधरी के निधन से गमजदा विधायक मुहम्मदाबाद मन्नू अंसारी ने कहा कि राकेश चौधरी यूपी पुलिस के कर्तव्यनिष्ठ जवान थे मगर अफसोस कि अब तक उनका कातिल पकड़ा नहीं गया है। राकेश चौधरी को शहीद का दर्जा देते हुए मन्नू अंसारी कहे कि उनकी पूरी कोशिश रहेगी कि सरकार शहीद राकेश चौधरी के आश्रितों को हर जरूरी मदद मुहैया कराए। मालूम हो कि राकेश चौधरी 2018 बैच के कांस्टेबल थे।

 

यह जरूर सुनें–गैंगवॉर: डॉन का कत्ल ऐसे

 ‘आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

Related Articles

Back to top button